Sukma Naxal News: नक्सलियों ने किया अपहरण, चार मजदूर सहित ठेकेदार जो की जल जीवन मिशन से जुड़े थे…, पुलिस कर रही है जांच

Sukma News छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां नक्सलियों ने ठेकेदार सहित चार मजदूरों का अपहरण कर लिया। साथ ही नक्सलियों ने ठेकेदार की जेसीबी मशीन भी अपने साथ ले गए है।
कांकेर के छोटेबेतिया थाना क्षेत्र के अचिनपुर गांव में बीती रात नक्सलियों ने एक मोबाइल टावर के जेनरेटर में आग लगा दी. क्षेत्र के विकास और घटते जनाधार से असंतुष्ट होकर नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम दिया. पुलिस ने स्थिति पर ध्यान दिया है और सक्रिय कदम उठा रही है। पिछले कुछ दिनों से नक्सली बस्तर में अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। चुनाव के दिन, बांदे पड़ोस में एक मुठभेड़ की घटना हुई। एक किसान को गोली लग गई और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. चुनाव से एक दिन पहले, व्यवधान उत्पन्न करने के उद्देश्य से एक पूर्व नियोजित बम हमला किया गया था। चुनाव से एक दिन पहले, सुरक्षा बलों और मतदान को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से एक जानबूझकर बम हमला भी किया गया था अधिकारियों. इस घटना में एक सिपाही को चोट लगी और देखभाल के दौरान उसकी मौत हो गई. मोरखंडी टोले में मुखबिरी के संदेह में दो स्थानीय लोगों की हत्या कर दी गई और उनके अवशेष बाहर फेंक दिए गए। इसके अलावा बांदे क्षेत्र में पर्चे बांटकर मोहल्ले में भय फैलाने का असफल प्रयास किया गया. वहीं, कांकेर जिला मुख्यालय से करीब 10 किलोमीटर दूर बार देवरी में भी नक्सलियों ने बैनर-पोस्टर दिखाकर दहशत फैलाने की कोशिश की. वहीं कांकेर जिले में नक्सली हिंसा का ग्राफ चढ़ता जा रहा है.

Sukma News: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा इलाके से एक अहम खबर सामने आई है। यहां चार मजदूरों-जिनमें एक ठेकेदार भी शामिल है- नक्सलियों ने उनका अपहरण कर लिया। साथ ही ठेकेदार की जेसीबी मशीन को भी नक्सलियों ने अपने कब्जे में ले लिया है।

कहानी के अनुसार ये सभी व्यक्ति जल जीवन मिशन योजना द्वारा नियोजित थे। इधर, मजदूरों के परिवार नक्सली संगठन से मजदूरों को जल्द रिहा करने की गुहार लगा रहे हैं। हालाँकि स्थिति की अभी तक औपचारिक पुष्टि नहीं हुई है। जिले की जगरगुंडा थाना पुलिस पूरी स्थिति पर रिपोर्ट दे रही है। आपको बता दें कि पांच दिन पहले बीजापुर जिले के बासागुड़ा थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने एक युवक की गला रेतकर हत्या कर दी थी। त्रासदी के बाद शव को गांव के पास ले जाकर फेंक दिया गया। नक्सलियों के अनुसार वह युवक कथित तौर पर पुलिस का मुखबिर था। इसके बाद गांव के जंगल में उसके गले पर चाकू से हमला कर दिया गया।

तीन जवान हुए थे शहीद

सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र तेकालगुडेम में 30 जनवरी को पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। इसमें सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो गये। चौदह सैनिक घायल हो गये। जगरगुंडा थाने के टेकलगुडेम गांव में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई।