Chhattisgarh News: पूर्व सीएम ने झीरम कांड के लिए बीजेपी को घेरा, बोले- 11 साल बाद भी पीड़ितों को नहीं मिला न्याय, गृह मंत्री के बयान पर भड़के

Jhiram Kand: पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि झीरम हमले के 11 साल पूरे होने को है, लेकिन पीड़ितों को न्याय नहीं मिला हैं। भाजपा सरकार ने हमेशा झीरम की जांच को रोकने का प्रयास किया है।
Chhattisgarh Politics: पक्षपात करने का लगा आरोप, पूर्व सीएम भूपेश बघेल ने चुनाव आयोग पर साधा निशाना..

Jhiram Kand: पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि झीरम हमले की 11वीं बरसी करीब आ रही है, लेकिन पीड़ितों को अब तक न्याय नहीं मिला है। भाजपा सरकार ने बार-बार झीरम की जांच रोकने का प्रयास किया है। हमने बार-बार एनआईए से झीरम की जांच की फाइल उपलब्ध कराने की मांग की थी। उस समय के लोगों की इसमें भूमिका थी, इसलिए जांच की अनुमति नहीं दी गई। सबूत जेब में रखने के बयान पर भूपेश बघेल ने जवाब देते हुए कहा कि सिर्फ इसलिए कि विजय शर्मा सत्ता में हैं, उन्हें किसी के कब्जे में हाथ डालने का अधिकार नहीं मिल जाता। मैंने इसे हासिल कर लिया है। उन्होंने कहा कि केंद्र में हमारी सरकार बनने जा रही है, उसके बाद एनआईए सही दिशा में जांच करेगी। 4 जून तक इंतजार करें। उसके बाद हमारी सरकार सब कुछ स्पष्ट कर देगी।

झीरम का सच रोकने के लिए भाजपा शुरू से षड़्यंत्र करती रही: कांग्रेस

झीरम घटना की बरसी पर कांग्रेस ने कई चिंताएं व्यक्त की हैं। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि झीरम घाटी त्रासदी ने कांग्रेस नेताओं की एक पूरी पीढ़ी को नुकसान पहुंचाया है। यह दुखद और हृदयविदारक घटना स्वतंत्र भारत में डॉ. रमन सिंह और भाजपा के शासनकाल के दौरान हुई, और अपराधियों को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए। कांग्रेस ने दावा किया कि बीजेपी को चिंता है कि अगर झीरम का सच सामने आया तो वह बेनकाब हो जाएगी।

नक्सलवाद पर केवल राजनीति करती आई है कांग्रेस: भाजपा

भाजपा के प्रदेश महासचिव राम जगदीश रोहरा ने दावा किया कि कांग्रेस ने अपनी राजनीति पूरी तरह से नक्सलवाद पर केंद्रित कर दी है। झीरम कांड मामले में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सार्वजनिक बयान दिया था कि उनकी जेब में कांग्रेस नेताओं की हत्या के सबूत हैं, लेकिन उन्होंने अभी तक ऐसे किसी सबूत का खुलासा नहीं किया है।